Chalti Bus Me Choot Chudai

चलती बस में चूत चुदाई
Chalti Bus Me Choot Chudai
दोस्तों, मेरा नाम अचिन है, मैं देहरादून से हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ।
आज मैं आप लोगों के साथ अपने साथ घटित एक वाकया पेश कर रहा हूँ लेकिन उससे पहले मैं आपको अपने बारे में बता दूँ।
मेरी उम्र 23 साल है। मेरी लम्बाई 5 '11 " इंच है और मैं एक स्वस्थ और हष्टपुष्ट युवक हूँ। मेरे लौड़े की लम्बाई जैसे सबकी होती है 5′ और मोटाई 2.5 इंच है।
मुझे चुदाई करने का बहुत शौक है, चाहे वो कोई लड़की हो या कोई आंटी या भाभी हो।
और जो कहानी मैं आपके लिये लेकर आया हूँ, यह मेरे जीवन की सत्य घटना है, इसमें नाम बदले हुए हैं।
बात दिसम्बर महीने की है, मैं देहरादून से दिल्ली किसी काम से जा रहा था तो मैं देहरादून आई.एस.बी.टी. से एक ऐ.सी. बस में सबसे आगे वाली सीट पर बैठ गया बस लगभग खाली सी ही थी उसमें बीस सवारी के करीब थी।
मेरे साथ वाली सीट खाली पड़ी थी क्योंकि वो मैंने जानबूझ कर खाली रखी थी जब भी कोई वहाँ बैठने के लिए बोलता, मैं बोल देता कि कोई बैठा है, तो वो यात्री आगे चला जाता।
मैं सोच रहा था कि कोई लड़की आ जाए तो रात कट जाएगी। लेकिन जब बस चल दी और कोई भी लड़की बस में नहीं आई तो में भी बस ऐसे ही मायूस होकर बैठ गया।उसके बाद बस रुड़की आकर रुकी तो मैं फिर से देखने लगा कि कोई लड़की आ जाये।
तभी एक 30-32 साल की एक औरत एक आदमी के साथ बस में चढ़ी। मैंने उस पर ध्यान नहीं दिया, मैंने सोचा कि साथ में उसका पति होगा।
पर वो औरत एकदम से मेरे पास वाली खाली सीट पर आकर बैठ गई और वो आदमी उसको बैग देकर वापस चला गया।
मैं एकदम से हैरान हो गया और मन ही मन खुश भी हो रहा था लेकिन वो औरत देखने में बड़ी तेज लग रही थी मतलब खतरनाक …
उसकी लम्बाई 5 '9″ होगी और थोड़ी भरी पूरी भी थी, उसकी चूचियों का आकार भी 36″ से ऊपर और उसके कूल्हे 38″ के आस पास होंगे।
बस वहाँ से चल दी थी।
पहले तो मैं उसको देखता रहा, ऐसे ही रात का एक बज गया था और बस मुज़फ्फरनगर पहुँचने वाली थी। तो वो औरत सोने लगी और मेरी आँखों से तो नींद गायब थी।
अब आप ही बताओ ठण्ड का मौसम और बगल में सेक्सी माल तो नींद कहाँ आती है। वो सो गई थी और उसका हाथ कुर्सी के हत्थे पर रखा था। मैंने अपना हाथ डरते डरते उसके हाथ के ऊपर रख दिया और सोने का नाटक करने लगा।
वो तो नींद में थी ही, मैंने अपना हाथ ऐसे रखा था जिससे उसको मेरे हाथ का अहसास हो जाये।
और फिर वही हुआ थोड़ी देर बाद मेरा हाथ रखे होने की वजह से उसका हाथ गर्म हो गया फिर उसने मेरे को सोया मानकर मेरा हाथ अपने हाथ से दबा दिया।
मैं कुछ नहीं बोला, वो उठ चुकी थी और वो ऐसे ही मेरे हाथ अपने हाथ में लेकर सहला रही थी।
उसके बाद मैंने भी अपने हाथ में थोड़ी हलचल पैदा की जिससे उसको पता लग गया कि मैं जाग गया हूँ।
उसने मेरे हाथ छोड़ दिया पर मैंने उसके हाथ को दोबारा पकड़ लिया और उससे कहा- पकड़ लो, ठण्ड हो रही है।
उसके बाद मैंने अपना हाथ उसकी जांघ पर रख दिया। उसने साड़ी पहन रखी थी, मैं उसको कपड़ों के ऊपर ही सहलाने लगा और वो भी जवाब में अपना हाथ मेरे लंड पर ले गई। मैंने पैंट की ज़िप खोलकर उसके हाथ में अपना लौड़ा दे दिया और उसकी मोटी-2 चूचियों को हल्के-2 दबाने लगा और एक हाथ से उसकी साड़ी को ऊपर उठाकर उसकी चूत के दाने को छेड़ने लगा।
वो थोड़ी कुनमुनाने लगी और उसके मुख से हल्की 'उह्ह्ह अहह हहा' की आवाज़ आने लगी और वो मेरे लंड को जोर जोर से आगे पीछे करने लगी।
आप सोच रहे होंगे कि बस में ये सब कैसे ?
तो में आपको बता दूँ कि ऐ सी बस होने की वजह से उसकी कुर्सी ऊँची थी, रात की वजह से अंधेरा था और हमने एक चादर ओढ़ रखी थी।
हाँ तो अब कहानी पर आते हैं, वो पूरे जोश में आ गई थी।
फिर उसने अपना मुँह नीचे करके मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और उससे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी।
मुझे भी बहुत मजा आ रहा था, मैं भी उसकी चूत में उंगली अन्दर बाहर कर रहा था।
ऐसा करते-2 मेरा लंड उसके मुँह में ही झड़ गया, तब उसने रुमाल से उसको साफ़ किया और इधर मैंने उसकी चूत में उंगली करके उसका भी पानी निकाल दिया था, उसने उसको साफ़ किया।
उसके बाद बस एक ढाबे पर रुकी, वहाँ पर सबने चाय पी। वहाँ पर मैंने बस कंडक्टर को पैसे देकर ऊपर सोने के लिए जगह ले ली उसके बाद हम सोने के लिए ऊपर शयन यान में चले गये लेकिन नींद तो हमारी आँखों से कोसों दूर थी।
बस चल दी थी, हम दोनों लेट गये, मैंने उसकी चूचियों को सहलाना शुरु किया और उसका ब्लाउज उतार दिया क्योंकि शयनयान में अलग-2 भाग होते हैं सोने के लिए जिससे किसी दूसरे को कुछ नहीं दिखता।
उसके ब्लाउज निकालने के बाद मैंने उसकी चूचियों को उसकी ब्रा के ऊपर से चूसना शुरु कर दिया, फिर मैंने उसकी ब्रा से उसकी मोटी-2 चूचियों को निकाला और उनको जोर-2 से मुँह से काटने लगा।
उसको बहुत मजा आ रहा था और उनमें से दूध भी निकल रहा था। मैंने उसकी चूचियों को काटना चालू रखा और एक हाथ से उसकी साड़ी को ऊपर करके उसकी चूत पर हाथ ले जाकर उसकी चूत के दाने को दबाकर उसकी चुदने की इच्छा को और ज्यादा बढ़ा दिया।
अब वो मेरे लिंग को निकाल करके हाथ से आगे पीछे करके अपनी चूत पर ले जा रही थी पर मैंने उसकी चूचियों पर से मुँह हटा कर उसकी चूत की फूली हुई फांकों पर रख दिया और उनका रसपान करने लगा।
उसके बाद उसने मेरे लण्ड को मुँह में लेकर चूसना शुरु कर दिया, अब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गये थे, वो बड़े मजे से मेरा लिंग को चूस रही थी, मैंने चूस-चाट कर उसका रस निकाल दिया, फिर मैं उठा और उसकी दोनों टांगों को अपनी कमर के दोनों तरफ करके उसकी चूत पर अपने लंड महाराज को ले गया और उसकी चूत पर लंड को रगड़ने लगा।
वो बार-2 अन्दर घुसाने को कहने लगी लेकिन मुझे उसको तड़पाने और उसकी तड़प देखकर मजा आ रहा था।
काफी देर बाद मैंने उसकी चूत में अपने लंड का प्रवेश कराया तो वो चिंहुक उठी।
उसकी चूत तो पूरी गीली पड़ी थी, लंड अपने आप अन्दर सरकता चला गया और उसकी जड़ तक जाकर बैठ गया।
उसने मेरी कमर को अपनी टांगों से जकड़ लिया। दो मिनट तक ऐसे ही पड़े रहने के बाद मैंने थोड़ा सा ऊपर उठकर हल्का सा अपना लंड बाहर निकालकर अन्दर किया और हल्के हल्के अन्दर बाहर करने लगा। वह भी मेरे लंड के साथ ही अपने हिसाब से चूतड़ों को आगे पीछे करने लगी और उह्ह्ह्ह अहा अह अह ऊऊ … की आवाज़ करने लगी और मेरे कानों में 'चोदो मुझे' कहने लगी।
तब मैंने अपने लंड से उसको तेज तेज चोदना शुरु कर दिया पर बस चलने की आवाज की वजह से चुदाई की फच्च फच्च की आवाज का पता नहीँ चल रहा था।
2-4 मिनट शॉट मारने के बाद ही उसका शरीर ऐंठने लगा और वो झड़ गई, उसका कामरस उसकी चूत से निकल कर उसकी जांघों से नीचे बहने लगा। तभी मैंने भी 2-4 आखिरी शॉट मारकर अपना रस उसके रस में मिला दिया और उसके ऊपर लेट गया।
दस मिनट बाद हम अलग हुए और फिर एक दूसरे को साफ़ करके अपने कपड़े सही किए और लेट गये।
थोड़े देर बाद ही दिल्ली आ गया था फिर मैंने उससे बात की तो पता लगा कि उसका नाम पूनम है, दिल्ली में उसका मायका है और उसकी ससुराल रुड़की है, उसके पति का मार्केटिंग का बिजनेस है, जिस कारण वो उसको ज्यादा टाइम नहीं दे पाते हैं और वो सेक्स की भूखी रहती है।
मैंने उसका फ़ोन नम्बर ले लिया और उसको फिर से मिलने का और फ़ोन से मिलने का वादा किया।
आज भी मैं उसको फ़ोन करता हूँ और जब भी मौका मिलता है उसको उसके घर रुड़की जाकर चोदता हूँ।

Chalti Bus Me Choot Chudai
Doston , Mera Naam अचिन Hai , Main Deharadun Se Hoon । Main Antarvasna Ka Niyamit Pathak Hoon ।
Aaj Main Aap Logon Ke Sath Apne Sath Ghatit Ek Vaakaya Pesh Kar Raha Hoon Lekin Usase Pehle Main Aapko Apne Bare Me Bata Doon ।
Meri Umra 23 Sal Hai । Meri Lambai 5 '11 " Inch Hai Aur Main Ek Swasth Aur hashtpusht Yuvak Hoon । Mere Laude Ki Lambai Jaise Sabki Hoti Hai 5′ Aur Motai 2.5 Inch Hai ।
Mujhe Chudai Karne Ka Bahut Shauk Hai , Chahe Wo Koi Ladki Ho Ya Koi Aunty Ya bhabhi Ho ।
Aur Jo Kahani Main Apke Liye Lekar Aaya Hoon , Yah Mere Jeevan Ki Satya Ghatna Hai , Isme Naam Badle Hue Hain ।
Baat December Mahine Ki Hai , Main Deharadun Se Delhi Kisi Kaam Se Jaa Raha Tha To Main Deharadun I.S.B.T. Se Ek E.Si. Bus Me Sabse Aage Wali Seat Par Baith Gaya Bus Lagbhag Khali Si Hee Thi Usme Bees Sawari Ke Karib Thi ।
Mere Sath Wali Seat Khali Padi Thi Kyonki Wo Maine JaanBoojh Kar Khali Rakhi Thi Jab Bhi Koi Wahan Baithne Ke Liye Bolta , Main Bol Deta Ki Koi Baitha Hai , To Wo Yatri Aage Chala Jata ।
Main Soch Raha Tha Ki Koi Ladki Aa Jaye To Raat Cut Jayegi । Lekin Jab Bus Chal Dee Aur Koi Bhi Ladki Bus Me Nahi I To Me Bhi Bus Aise Hee maayus Hokar Baith Gaya । Uske Baad Bus Roorkee Aakar Ruki To Main Fir Se Dekhne Laga Ki Koi Ladki Aa Jaye ।
Tabhi Ek 30 - 32 Sal Ki Ek Aurat Ek Aadmi Ke Sath Bus Me Chadhi । Maine Us Par Dhyan Nahi Diya , Maine Socha Ki Sath Me Uska Pati Hoga ।
Par Wo Aurat Ekdum Se Mere Paas Wali Khali Seat Par Aakar Baith Gayi Aur Wo Aadmi Usko Bag Dekar Wapas Chala Gaya ।
Main Ekdum Se Hairaan Ho Gaya Aur Man Hee Man Khush Bhi Ho Raha Tha Lekin Wo Aurat Dekhne Me Badi Tej Lag Rahi Thi Matlab Khatarnak …
Uski Lambai 5 '9″ Hogi Aur Thodi Bhari Puri Bhi Thi , Uski Choochiyon Ka Akaar Bhi 36″ Se Upar Aur Uske Koolhe 38″ Ke Aas Paas Honge ।
Bus Wahan Se Chal Dee Thi ।
Pehle To Main Usko Dekhta Raha , Aise Hee Raat Ka Ek baj Gaya Tha Aur Bus muzaffarNagar Pahunchne Wali Thi । To Wo Aurat Sone Lagi Aur Meri Ankhon Se To Neend Gayab Thi ।
Ab Aap Hee Batao Thand Ka Mausam Aur Bagal Me Sexy Mal To Neend Kahan Aati Hai । Wo So Gayi Thi Aur Uska Hath Kursi Ke Hatthe Par Rakha Tha । Maine Apna Hath Darte Darte Uske Hath Ke Upar Rakh Diya Aur Sone Ka Natak Karne Laga ।
Wo To Neend Me Thi Hee , Maine Apna Hath Aise Rakha Tha Jisse Usko Mere Hath Ka Ehsaas Ho Jaye ।
Aur Fir Wahi Hua Thodi Der Baad Mera Hath Rakhe Hone Ki Wajah Se Uska Hath Garm Ho Gaya Fir Usane Mere Ko Soya Mankar Mera Hath Apne Hath Se Daba Diya ।
Main Kuch Nahi Bola , Wo Uth Chuki Thi Aur Wo Aise Hee Mere Hath Apne Hath Me Lekar Sahla Rahi Thi ।
Uske Baad Maine Bhi Apne Hath Me Thodi Halchal Paida Ki Jisse Usko Pata Lag Gaya Ki Main Jag Gaya Hoon ।
Usane Mere Hath Chhod Diya Par Maine Uske Hath Ko Dobara Pakad Liya Aur Usase Kahaa - Pakad Lo , Thand Ho Rahi Hai ।
Uske Baad Maine Apna Hath Uski Jangh Par Rakh Diya । Usane Saadi Pahan Rakhi Thi , Main Usko Kapdon Ke Upar Hee Sahlane Laga Aur Wo Bhi Jawab Me Apna Hath Mere Lund Par Le Gayi । Maine Pant Ki Zip Kholkar Uske Hath Me Apna Lauda De Diya Aur Uski Moti - 2 Choochiyon Ko Halke - 2 Dabane Laga Aur Ek Hath Se Uski Saadi Ko Upar Uthakar Uski Choot Ke Dane Ko Chhedne Laga ।
Wo Thodi kunmunane Lagi Aur Uske Mukh Se Halki 'Oohhhh Ahh हहा' Ki Aawaj Ane Lagi Aur Wo Mere Lund Ko Jor Jor Se Aage Pichhe Karne Lagi ।
Aap Soch Rahe Honge Ki Bus Me Ye Sab Kaise ?
To Me Aapko Bata Doon Ki E Si Bus Hone Ki Wajah Se Uski Kursi Unchi Thi , Raat Ki Wajah Se Andhera Tha Aur Hamne Ek Chadar Odh Rakhi Thi ।
Haan To Ab Kahani Par Aate Hain , Wo Pure Josh Me Aa Gayi Thi ।
Fir Usane Apna Munh Niche Karke Mera Lund Apne Munh Me Le Liya Aur Usase Lolipop Ki Tarah choosne Lagi ।
Mujhe Bhi Bahut Maja Aa Raha Tha , Main Bhi Uski Choot Me ungli Andar Bahar Kar Raha Tha ।
Aisa Karte - 2 Mera Lund Uske Munh Me Hee Jhad Gaya , Tab Usane Rumaal Se Usko Saaf Kiya Aur Idhar Maine Uski Choot Me ungli Karke Uska Bhi Pani Nikal Diya Tha , Usane Usko Saaf Kiya ।
Uske Baad Bus Ek Dhabe Par Ruki , Wahan Par Sabne Chaay P । Wahan Par Maine Bus Conductor Ko Paise Dekar Upar Sone Ke Liye Jagah Le Lee Uske Baad Ham Sone Ke Liye Upar Shayan Yaan Me Chale Gaye Lekin Neend To Hamari Ankhon Se Koson Door Thi ।
Bus Chal Dee Thi , Ham Dono Let Gaye , Maine Uski Choochiyon Ko Sahlana Shuru Kiya Aur Uska blouse Utar Diya Kyonki Shayanyaan Me Alag - 2 Bhag Hote Hain Sone Ke Liye Jisse Kisi Doosre Ko Kuch Nahi Dikhta ।
Uske blouse Nikalne Ke Baad Maine Uski Choochiyon Ko Uski bra Ke Upar Se Choosna Shuru Kar Diya , Fir Maine Uski bra Se Uski Moti - 2 Choochiyon Ko Nikala Aur Unko Jor - 2 Se Munh Se Katne Laga ।
Usko Bahut Maja Aa Raha Tha Aur Unme Se Doodh Bhi Nikal Raha Tha । Maine Uski Choochiyon Ko Katna Chalu Rakha Aur Ek Hath Se Uski Saadi Ko Upar Karke Uski Choot Par Hath Le Jakar Uski Choot Ke Dane Ko Dabakar Uski Chudne Ki Ichha Ko Aur Jyada Badha Diya ।
Ab Wo Mere Ling Ko Nikal Karke Hath Se Aage Pichhe Karke Apni Choot Par Le Jaa Rahi Thi Par Maine Uski Choochiyon Par Se Munh Hata Kar Uski Choot Ki Fooli Hui Faankon Par Rakh Diya Aur Unka RasPaan Karne Laga ।
Uske Baad Usane Mere Lund Ko Munh Me Lekar Choosna Shuru Kar Diya , Ab Ham Dono 69 Ki Position Me Aa Gaye The , Wo Bade Maje Se Mera Ling Ko choos Rahi Thi , Maine choos - Chaat Kar Uska Ras Nikal Diya , Fir Main Utha Aur Uski Dono Tangon Ko Apni Kamar Ke Dono Taraf Karke Uski Choot Par Apne Lund MahaRaj Ko Le Gaya Aur Uski Choot Par Lund Ko Ragadne Laga ।
Wo Baar - 2 Andar Ghusane Ko Kahne Lagi Lekin Mujhe Usko Tadpane Aur Uski Tadap Dekhkar Maja Aa Raha Tha ।
Kafi Der Baad Maine Uski Choot Me Apne Lund Ka Pravesh Karaya To Wo Chinhuk Uthi ।
Uski Choot To Puri Geeli Padi Thi , Lund Apne Aap Andar Sarakta Chala Gaya Aur Uski Jad Tak Jakar Baith Gaya ।
Usane Meri Kamar Ko Apni Tangon Se Jakad Liya । Do Minute Tak Aise Hee Pade Rehne Ke Baad Maine Thoda Saa Upar uthkar Halka Saa Apna Lund Bahar NiKaalkar Andar Kiya Aur Halke Halke Andar Bahar Karne Laga । Wah Bhi Mere Lund Ke Sath Hee Apne Hisab Se Chootadon Ko Aage Pichhe Karne Lagi Aur Oohhhh Ahaa Ah Ah oooo … Ki Aawaj Karne Lagi Aur Mere Kanon Me 'Chodo Mujhe' Kahne Lagi ।
Tab Maine Apne Lund Se Usko Tej Tej Chodna Shuru Kar Diya Par Bus Chalne Ki Aawaj Ki Wajah Se Chudai Ki Fachh Fachh Ki Aawaj Ka Pata Nahi Chal Raha Tha ।
2 - 4 Minute Shot Maarne Ke Baad Hee Uska Sharir Ainthne Laga Aur Wo Jhad Gayi , Uska Kaamras Uski Choot Se Nikal Kar Uski Janghon Se Niche Behne Laga । Tabhi Maine Bhi 2 - 4 Aakhiri Shot Markar Apna Ras Uske Ras Me Mila Diya Aur Uske Upar Let Gaya ।
Dus Minute Baad Ham Alag Hue Aur Fir Ek Doosre Ko Saaf Karke Apne Kapde Sahi Kiye Aur Let Gaye ।
thode Der Baad Hee Delhi Aa Gaya Tha Fir Maine Usase Baat Ki To Pata Laga Ki Uska Naam Poonam Hai , Delhi Me Uska Mayka Hai Aur Uski Sasural Roorkee Hai , Uske Pati Ka Marketing Ka Buisness Hai , Jis Karan Wo Usko Jyada Time Nahi De Pate Hain Aur Wo Sex Ki bhookhi Rehti Hai ।
Maine Uska Phone Number Le Liya Aur Usko Fir Se Milne Ka Aur Phone Se Milne Ka wada Kiya ।
Aaj Bhi Main Usko Phone Karta Hoon Aur Jab Bhi Mauka Milta Hai Usko Uske Ghar Roorkee Jakar Chodta Hoon ।

No comments :

Follow Sexy Jokes in Hindi by Email

BEST WHATSAPP JOKES

HINDI CHUTKULE SEXY WHATSAPP